2022-06-28

Ind vs SA test series 2019: रोहित शर्मा चुने गए ओपनर, रवि शास्त्री ने दिया भरोसा

नई दिल्ली। साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए रोहित शर्मा ओपनर के तौर पर टीम में चुने गए हैं और वो इस जिम्मेदारी को निभाने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

जयपुर में किसी भी लोकेशन पर फ्लैट, विला, प्लाॅट, काॅमर्शियल स्पेस, इंडस्ट्रियल, फार्म हाउस गवर्नमेंट एप्रूव्ड, contact 9001094763

हालांकि ये पहला मौका होगा जब वो टेस्ट मैच में ओपनर की भूमिका निभाएंगे। रोहित शर्मा वैसे भी टेस्ट क्रिकेट अब तक ज्यादा कुछ खास नहीं कर पाए हैं और उनके पास शानदार मौका है कि वो ओपनर के तौर पर खुद को क्रिकेट से सबसे लंबे प्रारूप में साबित कर पाएं।

रोहित शर्मा इसे लेकर दवाब में जरूर होंगे, लेकिन टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने कुछ ऐसा कह दिया है जिससे रोहित को जरूर राहत मिली होगी और वो ज्यादा अच्छे तरीके से इस जिम्मेादारी को निभाने की कोशिश करेंगे।

रवि शास्त्री ने रोहित शर्मा को भरोसा दिलाया है कि टीम मैनेजमेंट उन्हें पर्याप्त मौके देगी जिससे कि वो टेस्ट क्रिकेट में ओपनर के तौर पर खुद को साबित कर सकें। इसके अलावा शास्त्री ने विश्वास जताया कि वो टेस्ट क्रिकेट में मैच विजेता के तौर पर बन कर उभरेंगे।

रोहित उजले गेंद की क्रिकेट में पिछले कुछ वर्षों से भारत के सबसे निरंतर बल्लेबाज हैं। सिमित प्रारूप में बेहद सफल रोहित टेस्ट क्रिकेट में खुद को साबित नहीं कर पाए हैं। टेस्ट क्रिकेट में अपने पहले दो मैचों में शतक लगाने वाले रोहित बाद में रन बनाने में नाकामयाब रहे।

रवि शास्त्री ने कहा कि रोहित शर्मा में एक्स फैक्टर है। हालांकि टेस्ट में वो 5 या 6 नंबर पर बल्लेबाजी करते हैं और उनके लिए ये आसान नहीं है, लेकिन ये सब दिमागी बातें हैं। अगर वो इन सब बातों से उपर आ जाएंगे तो वो टेस्ट में मैच विजेता साबित होंगे। हम उन्हें इसके लिए पर्याप्त मौके देंगे।

वनडे क्रिकेट में रोहित शर्मा का करियर तब उंचाई पर आया जब उन्हें 2013 चैंपियंस ट्रॉफी में शिखर धवन के साथ ओपनिंग करने का मौका दिया गया। इसके बाद से उन्होंने 128 पारियों में 59.11 की औसत से 6621 रन बनाए हैं।

वनडे में वो सात बार 150 से ज्यादा रन बना चुके हैं जबकि उनके नाम पर तीन दोहरा शतक है। इसके अलावा टी20 में उनके नाम पर चार अंतरराष्ट्रीय शतक दर्ज हैं।

शास्त्री ने कहा कि भारत में कई ऐसे बल्लेबाज हैं जो टेस्ट में ओपनर कर सकते हैं। उपमहाद्वीप में कई बार आपको पांच बल्लेबाजों की जरूरत होती है। अब ये खिलाड़ी पर निर्भर करता है कि वो मिले मौके में किस तरह से अपनी पारी की शुरुआत करता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.