2023-12-26

सत्ता संभालते ही CM गहलोत ने ब्यूरोक्रेसी का बदला चेहरा

डेस्क। सीएम अशोक गहलोत ने सत्ता संभालने के बाद से लेकर लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लगने से पहले तक प्रदेश की पूरी ब्यूरोक्रेसी का चेहरा ही बदल डाला है। कांग्रेस सरकार ने इस अवधि में 1145 आईएएस, आईपीएस, आईएफएस और आरएएस अधिकारियों के ताबड़तोड़ तबादले किए हैं।

गहलोत ने शपथ लेने के अगले दिन ही 40 आईएएस अधिकारियों के तबादले कर जता दिया था कि वे ब्यूरोक्रेसी के बर्ताव से खुश नहीं है। उन्होंने शपथ लेने के बाद 8 दिन के भीतर ही तीन तबादला सूची जारी कर 140 आईएएस अधिकारियों को इधर उधर कर दिया. कई अफसरों के तबादले तो 3 से 4 बार हुए.

सत्ता परिर्वतन होने के साथ ही ब्यूरोक्रेसी का चेहरा बदलने की पुरानी रवायत रही है। सरकार बदलने के बाद राजनीतिक दल जनता में संदेश देने के नाम पर ऐसा करते हैं। एक महीने के भीतर ही कई अधिकारियों के तबादले निरस्त करने पड़े या फिर उनकी जगह बदलनी पड़ी।

तबादलों के मामले में वर्तमान गहलोत सरकार पूर्ववर्ती राजे सरकार की तुलना में काफी आगे निकल गई। पूर्ववर्ती राजे सरकार ने गत बार सत्ता में आते ही ढाई माह में 822 तबादले किए थे। इसी अवधि में हाल ही सत्ता में आई गहलोत सरकार ने 1145 अधिकारियों के तबादले कर डाले।

गहलोत सरकार में कुल 1145 तबादले किए गए हैं. इनमें 187 आईएएस, 139 आईपीएस, 55 आईएफएस और 765 आरएएस अधिकारी शामिल हैं। पूर्ववर्ती बीजेपी की राजे सरकार ने इस अवधि में कुल 822 अधिकारियों के तबादले किए थे। इनमें 119 आईएएस, 107 आईपीएस, पांच आईएफएस और 591 आरएएस अधिकारी शामिल थे।

गहलोत सरकार में आरएएस अधिकारियों की 18 तबादला सूची जारी हुई है। सरकार ने आचार संहिता लगने से पूर्व 765 आरएएस अधिकारी बदल दिए। इनमें भी कई अधिकारियों के इस अवधि में तीन से चार तबादले हो गए।

About Author

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.