2023-10-02

बेटी बनकर सुप्रीम कोर्ट के वकील को लगाई 20 करोड़ की चपत, जानिए मामला


डेस्क। मथुरा में क्राइम ब्रांच ने करोड़ों रुपये की जालसाजी करने वाली युवती को वृंदावन के प्रेम मंदिर से गिरफ्तार किया। जबकि उसका साथी भाग गया, आरोपी युवती ने जो कारनामा किया है, उसे जानकर लोग हैरान रह गए।

युवती ने सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता और उसकी पत्नी को मरा दिखाकर मथुरा तहसील में शपथ देकर खुद को इकलौती बेटी दर्शाया। इसके बाद युवती ने आगरा-दिल्ली हाईवे पर 10 हजार वर्ग मीटर जमीन में से कई प्लाटों का रजिस्टर्ड एग्रीमेंट करके अधिवक्ता को चपत लगाई।

गुरुग्राम के सेक्टर 50 निवासी आरके मित्तल सुप्रीम कोर्ट में अधिवक्ता हैं। उन्होंने वर्ष 1993 में आगरा-दिल्ली हाईवे पर 10 हजार वर्गमीटर जमीन खरीदी थी। यह जमीन अधिवक्ता और उनकी पत्नी सरोज मित्तल के नाम से थी।

क्राइम ब्रांच के अफसर ने बताया कि हाईवे पर करोड़ों रुपये की बेशकीमती जमीन पर युवती सीमा मित्तल की निगाह पड़ गई। सीमा ने अपने साथियों के साथ जमीन हड़पने का ताना-बाना बुनकर जमीन के कागजात हथिया लिए।

युवती ने अधिवक्ता और उनकी पत्नी को मरा दिखाकर एक शपथपत्र मथुरा तहसील में देकर अपने को इकलौती बेटी भी साबित कर दिया। दिल्ली नगर निगम के मृत्यु प्रमाण पत्र जमा करके जमीन का अधिकार भी प्राप्त कर लिया।

युवती ने फिर बेशकीमती जमीन में से प्लाटों के रजिस्टर्ड एग्रीमेंट करने शुरू कर दिए। अधिवक्ता को भनक लगती, उससे पहले युवती 20 करोड़ की चपत अधिवक्ता को लगा चुकी थी। अधिवक्ता ने जालसाजी का मुकदमा फरवरी-2018 में दर्ज कराया।

क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर भानुप्रताप सिंह ने बताया कि जमीन की हेरी-फेरी करने वाले गैंग में युवती के अलावा विष्णु शर्मा और भूपेंद्र चौधरी आदि के नाम प्रकाश में आए हैं। जल्द ही यह भी क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ जाएंगे।

About Author

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.