2022-06-29

बिहार में बड़ा सियासी बदलाव, नीतीश मंत्रिमंडल में कैबिनेट के आठ नए मंत्री शामिल, बीजेपी -LJP को नहीं मिली जगह, मोदी ने कहा…

पटना। बिहार में बड़ा सियासी बदलाव हुआ, पूर्वाह्न 11.30 बजे राजभवन में राज्‍य के नीतीश मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया। आठ नए मंत्रियों ने पद व गोपनीयता की शपथ ली। बाद में उनके विभागों की भी घोषणा कर दी गई। कुछ मंत्रियों के विभागों में फेरबदल भी किया गया।

खास बात यह है कि इस विस्तार में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक दलों भारतीय जनता पार्टी और LJP को जगह नहीं मिली। हालांकि, नीतीश व उपमुख्‍यमंत्री मोदी ने बताया कि उनकी बातचीत हो गई थी लेकिन बीजेपी ने इन्‍हें बाद में भरने का फैसला किया गया।

इस विस्‍तार की टाइमिंग को लेकर चर्चाएं गर्म हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल में जनता दल यूनाइटेड सुप्रीमो नीतीश कुमारद्वारा सांकेतिक प्रतिनिधित्‍व अस्‍वीकार करने के तीन दिनों बाद बिहार के इस मंत्रिमंडल विस्तार को नीतीश के पलटवार से जोड़कर देखा जा रहा है।

नीतीश कुमार ने कहा कि एनडीए में कहीं कोई दरार नहीं है। मंत्रिमंडल विस्‍तार को लेकर बीजेपी से बातचीत हो चुकी थी। बीजेपी ने तय किया कि उनके कोटे का मंत्रिमंडल विस्‍तार आगे किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि रविवार के मंत्रिमंडल विस्‍तार की जरूरत इसलिए थी कि विधानमंडल का सत्र आने वाला है।

उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्‍तार को लेकर कोई विवाद नहीं है। नीतीश कुमार ने बीजेपी कोटे के मंत्रियों कर रिक्तियां भरने की पेशकश की थी। लेकिन पार्टी नेतृत्‍व ने फिलहाल इसे टाल दिया है। सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में भी इसे दुहराया।

मंत्रिमंडल में इन्‍हें मिली जगह

शपथ ग्रहण के बाद मंत्रियों के विभागों का भी बंटवारा कर दिया गया। कुछ पुराने मंत्रियों के विभागों में फेरबदल भी किए गए।
– जयकुमार सिंह: विज्ञान व प्रावैधिकी विभाग
– महेश्‍वर हजारी: योजना व विकास विभाग
– प्रमोद कुमार: कला-संस्‍कृति व युवा विभाग
– बिनोद कुमार सिंह: पिछड़ा-अति पिछड़ा वर्ग कल्‍याण विभाग
– कृष्‍ण कुमार ऋषि: पर्यटन विभाग
– ब्रज किशोर बिंद: खान व भूतत्‍व विभाग
– नरेंद्र नारायण यादव: लघु जल संसाधन विभाग तथा विधि विभाग
– बीमा भारती: गन्‍ना विकास विभाग
– श्‍याम रजक: उद्योग विभाग
– अशोक चौधरी: भवन निर्माण विभाग
– रामसेवक सिंह: समाज कल्‍याण विभाग
– नीरज कुमार: सूचना व जनसंपर्क विभाग
– संजय झा: जल संसाधन विभाग
– लक्ष्‍मेश्‍वर राय: आपदा प्रबंधन विभाग

बिहार में मंत्रियों की संख्या 25 रह गईं थीं। इनमें जदयू के 12 और भाजपा के 13 शामिल थे। 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में मुख्‍यमंत्री को मिलाकर कुल 36 मंत्री बनाए जा सकते हैं। आज के शपथ ग्रहण के पहले तक 25 मंत्री थे। इसलिए मंत्रिमंडल में 11 रिक्तियां थीं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.