2022-06-27

वर्ल्ड कप: ओवर्स के लिहाज से पाकिस्तान की सबसे बड़ी हार, इंडीज ने पाक को 7 विकेट से दी मात

डेस्क। वेस्टइंडीज ने वनडे वर्ल्ड कप के दूसरे मैच में पाकिस्तान को 7 विकेट से हरा दिया। वेस्टइंडीज ने टॉस जीता और गेंदबाजी का फैसला किया। पाकिस्तान की टीम 21.4 ओवर में 105 रन पर ऑलआउट हो गई। लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज ने 13.4 ओवर में 3 विकेट पर 108 रन बनाकर मैच जीत लिया।

पाकिस्तान का वर्ल्ड कप में यह दूसरा न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले वह 1 मार्च 1992 को एडिलेड में इंग्लैंड के खिलाफ 40.2 ओवर में 74 रन पर ऑलआउट हो गई थी। वेस्टइंडीज के ओसाने थॉमस मैन ऑफ द मैच चुने गए। उन्होंने 5.4 ओवर में 27 रन देकर पाकिस्तान के 4 बल्लेबाजों को आउट किया था।

वर्ल्ड कप में गेंदें शेष रहते वेस्टइंडीज की यह चौथी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले उसने 1999 में 239, 1975 में 236 और 2011 में 226 गेंदें शेष रहते मैच जीता था। वहीं, वर्ल्ड कप में गेंदें शेष रहते पाकिस्तान की सबसे बड़ी हार है। इससे पहले 1999 में वह लार्ड्स में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 8 विकेट से हारी थी, तब 179 गेंदें फेंकी जानी शेष थीं।

नॉटिंघम में दोनों टीमें पहली बार आमने-सामने थीं। हालांकि, वर्ल्ड कप में दोनों के बीच यह 5वीं भिड़ंत थी। पाकिस्तान इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड कप मुकाबलों में वेस्टइंडीज के खिलाफ सिर्फ एक बार ही जीत हासिल कर पाया है। उसने 1999 में ब्रिस्टल में हुए मैच में वेस्टइंडीज को 27 रन से हराया था। वेस्टइंडीज 1975, 1979 और 1983 के वर्ल्ड कप में भी पाकिस्तान को हरा चुका है।

पाकिस्तान पिछले 12 वनडे में से एक में भी जीत हासिल नहीं कर पाया है। उसने वनडे में आखिरी जीत 27 जनवरी 2019 को जोहानेसबर्ग में हासिल की थी। तब उसने दक्षिण अफ्रीका को 8 विकेट से हराया था। उसके बाद से अब तक उसने 12 वनडे खेले। इनमें से 11 में उसे हार मिली, जबकि एक मैच बेनतीजा रहा।

गेल ने लगाया 51वां अर्धशतक

वेस्टइंडीज के आउट होने वाले बल्लेबाज क्रिस गेल, शाई होप और डॉरेन ब्रावो रहे। मोहम्मद आमिर की गेंद को सीमा-रेखा के बाहर भेजने की कोशिश में होप मिड-ऑफ पर मोहम्मद हफीज के हाथों कैच आउट हुए। उन्होंने 17 गेंद पर 11 रन बनाए। उनकी जगह आए ब्रावो खाता भी नहीं खोल पाए। मोहम्मद आमिर ने उन्हें भी पवेलियन की राह दिखाई। उनका कैच बाबर आजम ने पकड़ा। क्रिस गेल वेस्टइंडीज के हाइएस्ट स्कोरर रहे। उन्होंने 34 गेंद पर 6 चौके और 3 छक्के की मदद से 50 रन बनाए। यह उनका वनडे में 51वां अर्धशतक है।

आमिर की गेंद पर गेल पॉइंट पर शादाब खान के हाथों लपके गए। हालांकि, जब वे आउट हुए तब वेस्टइंडीज को जीत के लिए 29 रन ही बनाने थे और उसने इसे अगली 17 गेंदों पर हासिल कर लिया। गेल के आउट होने के समय निकोलस पूरन 10 गेंद पर 11 रन बनाकर खेल रहे थे। उन्होंने अगली 9 गेंदों पर 23 और गेल की जगह आए शिमरॉन हेटमायर ने 8 गेंद पर 7 रन बनाए। पूरन ने छक्का लगाकर वेस्टइंडीज को जीत दिला दी।

वर्ल्ड कप के 44 साल के इतिहास में यह पहली बार है जब पाकिस्तान की पूरी टीम 22 ओवर के अंदर पवेलियन लौटी। इससे पहले वर्ल्ड कप में उसकी टीम 22 फरवरी 2003 को केपटाउन में इंग्लैंड के खिलाफ 31 ओवर में 134 रन पर ऑलआउट हो गई थी। यह इंग्लैंड में वर्ल्ड कप में भी पाकिस्तान का न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले उसका वर्ल्ड कप में इंग्लैंड में न्यूनतम स्कोर 151 रन था। 16 जून 1979 को लीड्स के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ मैच में पाकिस्तान 56 ओवर में ऑलआउट हो गई थी।

पाकिस्तान के फख्र जमां (22), बाबर आजम (22), मोहम्मद हफीज (16) और वहाब रियाज (18) ही दहाई के अंक तक पहुंच पाए। शादाब खान बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। शादाब के अलावा 6 बल्लेबाज 10 रन से कम का ही स्कोर कर पाए। वेस्टइंडीज की ओर से ओसाने थॉमस सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 5.4 ओवर में 27 रन देकर 4 विकेट लिए।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.