2022-06-28

Sharad Purnima 2019: आज है शरद पूर्णिमा, जानें क्यों बनता है खीर का प्रसाद

नई दिल्ली। अश्विन मास की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा मनाई जाती है। इस दिन भक्त भगवान सत्यनारायण की कथा करके खीर का प्रसाद बनाते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन मां लक्ष्मी का जन्म भी हुआ था। यही वजह है कि यह दिन का खास महत्व रखता है।

शरद पूर्णिमा के दिन रात को चंद्रमा से अमृत बरसता है। इस साल शरद पूर्णिमा 13 अक्टूबर यानी आज रविवार को मनाई जा रही है। आज के दिन पूर्णिमा और उत्तराभाद्र पद नक्षत्र के संयोग विशेष फलदायी होंगे।

13 अक्तूबर 2019, रविवार-
21 आश्विन (सौर) शक 1941, 28 आश्विन मास प्रविष्टे 2076, 13 सफर सन् हिजरी 1441, आश्विन शुक्लपक्ष पूर्णिमा रात्रि 2 बजकर 38 मिनट तक उपरांत प्रतिपदा, उत्तरा भाद्रपदा नक्षत्र प्रात: 7 बजकर 53 मिनट तक तदनंतर रेवती नक्षत्र, व्याघात योग रात्रि 4 बजकर 42 मिनट तक उपरांत हर्षण योग, विष्टि (भद्रा) करण मध्याह्न 1 बजकर 39 मिनट तक, चंद्रमा मीन राशि में (दिन-रात)।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.