2022-08-07

राष्ट्रपति चुनाव : अदृश्य शक्ति, रबर स्टाम्प, खेला होबे… राष्ट्रपति चुनाव में खूब दांव आजमा रहे यशवंत सिन्हा, मैं कार्यपालिका द्वारा लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता की रोशनी को कम नहीं होने दूंगा

एक बार में तो गिर जाएगी महाराष्ट्र की सरकार महाराष्ट्र में सोमवार को विधान परिषद चुनाव में महा विकास आघाडी का बहुमत 151 तक गिर गया था राज्यसभा चुनाव के दौरान महाविकास आघाडी के पास 162 विधायक थे जबकि पहले संख्या 170 थी कि राज्यसभा चुनाव के बाद यहां पर की संख्या महाविकास आघाडी 11 विधायक कम हो गया है परिषद चुनाव से पहले बाद में तुलना करें तो 19 विधायक महाविकास आघाडी से दूर हो गए हैं और अभी यहां पर बात करें बीजेपी की तो 134 विधायकों का समर्थन प्राप्त है सर काटने के लिए जरूरी है और बीजेपी और महा विकास आघाडी की संख्या में बहुत कम रह गया है देखो इन विधायकों की सदस्यता पर महाराष्ट्र विधानसभा में शिवसेना के पास में जहां पर 56 विधायक हैं और कानून के हिसाब से शिंदे शिवसेना के 15 विधायक हैं गुमराह किया जा रहा है संपर्क नहीं हो पा रहा है शिवसेना के साथ में है महाराष्ट्र में सियासी उठापटक के बीच में नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस दिल्ली पहुंच गए हैं राज्य में 10 विधान परिषद की सीटों के लिए सोमवार को रिजल्ट जारी हुआ था जिसमें 5 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली और दो पर शिवसेना दोपहर एनसीपी और 1 सीट कांग्रेस के खाते में गई ऐसे में क्रॉस वोटिंग हुई थी ऐसे में सियासी सुगबुगाहट शुरू हो गई है कांग्रेस के दलित चेहरा चंद्रकांत चुनाव हारे हैं

 

 

 

 

यशवंत सिन्हा ने टीएमसी से इस्तीफा देने की पेशकश की है विपक्ष की तरफ से राष्ट्रपति उम्मीदवार हो सकते हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने तृणमूल कांग्रेस टीएमसी से इस्तीफा देने की इच्छा जाहिर की है ऐसे में कयास लगाया जा रहा है कि विपक्ष की तरफ से उन्हें राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया जा सकता है सोशल मीडिया में पोस्ट में उन्होंने कहा कि ममता जी ने टीएमसी में मुझे जो सम्मान प्रतिष्ठा दिलाई में उसके लिए उनका आभारी हूं अब समय आ गया है कि एक बड़े उद्देश्य के लिए पार्टी से अलग और विपक्ष के साथ में एकजुट करने के लिए काम करूं मुझे उम्मीद है कि ममता जी मेरे इस कदम बस अभी कॉल करेगी की तरफ से यह सोचना होंगे राष्ट्रपति पद के विपक्ष के उम्मीदवार उन्होंने कुछ बातें कही है जिसको लेकर अभी कुछ ऐसी बातें शामिल नहीं आई है

 

 

 

 

यह उम्मीदवार होंगे लेकिन सियासत तेज हो गई है राष्ट्रपति के चुनाव को लेकर देश के नए राष्ट्रपति चुनाव को लेकर एक बार फिर राष्ट्रपति राष्ट्रपति चुनाव के उम्मीदवार के रूप में ममता बनर्जी के एक्टिवेट कर बड़े राष्ट्रीय काम के लिए पार्टी के काम से अलग करने की घोषणा भी की है 3 बड़े नेता पहले ही ठुकरा चुके हैं विपक्ष का ऑफर शरद पवार फारूक अब्दुल्ला और गोपाल कृष्ण गांधी विपक्ष के ऑफर को ठुकरा चुके हैं महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी ने भी सोमवार को विपक्ष के नेताओं को राष्ट्रपति पद के लिए उनका नाम सु जाने पर धन्यवाद देते हुए चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की थी विपक्ष में यशवंत सिन्हा को मैदान में उतार सकती है यशवंत सिन्हा ने ट्वीट कर इन कयासों को हवा दे दी है यशवंत सिन्हा बीजेपी का दामन छोड़कर टीएमसी में शामिल हुए थे चुनाव में

Spread the love
Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.