2023-10-02

नए साल पर PM मोदी का पहला इंटरव्यू, राम मंदिर और सर्जिकल स्ट्राइक समेत कई मुद्दों पर कई ये खास बातें…

नई दिल्‍ली। नए साल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न्यूज एजेंसी एएनआई को पहला इंटरव्यू दिया। इस इंटरव्यू में पीएम ने कई मुद्दों पर अपनी बात रखी। उन्होंने राम मंदिर से लेकर नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक पर अपनी बात जनता के सामने रखी। पीएम मोदी ने गांधी परिवार पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि यह एक तथ्य है कि जो परिवार को पहले मानते हैं, जिन्होंने 4 पीढ़ियों तक देश चलाया, जो जमानत पर बाहर है और वो भी वित्तीय अनियमितताओं के मामले में, यह एक बड़ी बात है। जो लोग उनकी सेवा में हैं वे इन बातों को छिपाने की कोशिश कर रहे हैं।

पीएम ने विभिन्‍न मुद्दों पर बताया जिसमें राम मंदिर पर अध्‍यादेश, नोटबंदी, काला धन, जीएसटी, कृषि कर्ज माफी, मध्‍यवर्ग के लिए सहुलियतें, देश की प्रमुख संस्‍थाओं का सम्‍मान, राफेल डील, तीन तलाक, सबरीमाला मंदिर मामला, भाजपा का सांग‍ठनिक ढांचा, पांच राज्‍यों में चुनाव, पाकिस्‍तान के साथ सर्जिकल स्‍ट्राइक, पाक से बातचीत, पड़ोसी देशों के साथ संबंध शामिल रहे।

पीएम मोदी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए कोई अध्यादेश तभी लाया जा सकता है, जब इस पर कानूनी प्रक्रिया पूरी हो जाए। उन्होंने राम मंदिर को लेकर अदालती कार्यवाही में देरी को लेकर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में बाधाएं उत्पन्न कर रहे हैं, इसके चलते राम मंदिर मसले की सुनवाई की गति धीमी हो गई है।

उर्जित पटेल को लेकर मोदी ने कहा, उन्होंने खुद निजी कारणों का हवाला देकर इस्तीफा पेश किया। वे मुझे इस्तीफा देने से पहले 4-5 महीने पहले ये बोल चुके थे, उन्होंने यह लिखित में भी दिया था। राजनीतिक दवाब का सवाल ही पैदा नहीं होता। उन्होंने बतौर आरबीआई गर्वनर काफी अच्छा काम किया।

भाजपा के खिलाफ बन रहे महागठबंधन को खारिज करते हुए उन्‍होंने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव जनता बनाम महागठबंधन होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने इस तरह के दावों को भी खारिज किया जिसमें कहा जा रहा था कि बीजेपी को 543 में से 180 सीटें मिलेंगी। उन्होंने कहा कि इसी तरह के लोग 2014 के चुनावों में भी ऐसी ही बाते कर रहे थे। इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्वास व्यक्त किया कि सरकार के काम को देखते हुए बीजेपी को एक बार फिर जनता का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि मुझे भरोसा है कि यह चुनाव जो जनता की उम्मीदों पर पूरा करते है और जो उनकी आकांक्षाओं को रोकते हैं, उनके बीच होगा। यह 70 साल का तजुर्बा है कि जनता ही निर्णायक है। उन्होंने कहा कि यह चुनाव जनता बनाम गठबंधन होगा और मोदी तो सिर्फ लोगों के प्यार और आशीर्वाद की अभिव्यक्ति है। बीजेपी के खिलाफ बन रहे गठबंधन को खारिज करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जनता जानती है कि पहले भ्रष्टाचार का विकेंद्रीकरण था, जो राज्य था वो वहां लूटता था, जो केंद्र में था वो वहां लूटता था। जनता तय करेगी कि क्या उसे उन्हें उन भ्रष्ट ताकतों से साथ जाना है जो एक साथ आ रहे हैं।

नोटबंदी के बारे में लोगों को किया था आगाह
पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी झटका नहीं था, हमने कालेधन वालों को पहले ही चेताया था, लेकिन लोगों को लगा कि मोदी भी दूसरे नेताओं की तरह ही हैं इसलिए बहुत कम लोग ही स्वैच्छिक रूप से अपने जमा पैसों का खुलासा करने आगे आए। देश में काला धन के बारे में बार-बार खबरें आती थी, बिस्तरों से नोटों की बौछार होती थी। यह इस बात का सबूत थी कि हमारे देश में एक समानांतर अर्थव्‍यवस्‍था है। नोटबंदी से इस समानांतर अर्थव्‍यवस्‍था पर चोट की गई है।

रेल जब भी पटरी बदलती है तो ट्रेन की गति कुछ धीमी होती है। नोटबंदी के बारे में भी ऐसा है। देश में ईमानदारी का माहौल बना है। समानांतर अर्थव्‍यवस्‍था ने देश को खोखला कर दिया है। नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था मजबूत हुई है। नोटबंदी से लोगों की मानसिक सोच बदली है।

पांच राज्‍यों में पराजय के बारे में उन्‍होंने कहा कि मिजोरम और तेलंगाना के बारे में जीत के बारे में सोच नहीं रहे थे। छत्तीसगढ़ में साफ-साफ नतीजा आया लेकिन 2 राज्यों में हमें मिलाजुला परिणाम मिला, इन दोनों राज्यों में मिली हार पर हम चर्चा भी कर रहे हैं और रणनीति बना रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि पिछले दिनों हरियाणा में उप-चुनाव हुए, त्रिपुरा में भी उप-चुनाव हुए, दोनों राज्यों में बीजेपी ने काफी अच्छा परिणाम पाया।

कहीं न कहीं मोदी लहर है
मोदी मैजिक के बारे में उन्‍होंने कहा कि जब लोग कहते हैं कि मोदी लहर खत्म हो गई तो मैं उन लोगों का स्वागत करता हूं, क्योंकि ऐसे में वे कहीं न कहीं मानते हैं कि मोदी मैजिक नाम की कोई चीज है। 2013-14 में अखबार और टीबी डिबेट की खबरों पर नजर डाल कर देखें, जब मोदी लहर को लेकर कुछ लोग कहते थे कि मोदी लहर कुछ नहीं है और कुछ लोगों को हम पर हमेशा शक रहा है। इन लोगों में कुछ लोगों की संख्‍या बढ़ी है और कुछ घटी भी है।

भाजपा के संगठन के बारे में पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग कहते हैं कि भाजपा मोदी और शाह के नाम पर चलती है वो लोग भाजपा को नहीं जानते हैं, न समझते हैं। भाजपा दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है, हर स्तर पर अलग-अलग कार्यकर्ता लगे हुए हैं इसलिए पार्टी पर लोगों का भरोसा बड़ा है, पूरे आत्मविश्वास के साथ हमारी पार्टी आगे बढ़ रही है, मॉरल डाउन होने का सवाल नहीं है।

पीएम मोदी ने कहा कि कई तरह के नैरेटिव बना दिए गए हैं कि बीजेपी उत्तर भारतीयों की पार्टी है, सवर्णों की पार्टी है जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। हम चाहते हैं कि हमारे साथी दल भी आगे बढ़ें, हम कभी नहीं चाहेंगे कि हमारे साथी दल न बढ़ें, कांग्रेस यही चाहती है, हमारे साथ ऐसा नहीं है, हम सभी निर्णय मिलकर लेते हैं, राज्य और केन्द्र की राजनीति में फर्क जरूर होता है लेकिन हम हर स्तर पर यही मानते हैं।

जीएसटी से करों के भुगतान का आसान बनाया
पीएम मोदी ने कहा कि यह देश के नागरिकों को बताने की जरूरत होती है कि जीएसटी में केवल भारत सरकार का निर्णय नहीं होता बल्कि जीएसटी काउंसिल में होता है, जिसमें सभी राज्य सरकारें भी होती हैं और भारत सरकार भी उसमें एक पक्ष है, सभी लोग मिल बैठकर निर्णय लेते हैं। संसद में सर्वसम्मति से जीएसटी पारित हुआ, जीएसटी के आने से पहले देश में टैक्स स्लैब क्या था? जीएसटी से पहले 30-40 प्रतिशत टैक्स हुआ करता था और लोग टैक्स देते थे, जीएसटी के आने के बाद करों के भुगतान को आसान बनाया गया, रोजमर्रा की जरूरत वाली चीजों को सस्ता किया गया।

देश की संपत्ति लूटने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई
पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग इस सरकार के कार्यकाल में देश छोड़कर भागे हैं, उन्हें आज या कल वापस जरूर लाया जाएगा, रणनीतिक प्रयास, कानूनी प्रक्रिया और संपत्तियों तो जब्त किया गया है, जिन्होंने देश का पैसा चुराया है उन्हें हर पैसे का हिसाब चुकाना होगा।

उन्‍होंने पूछा कि आखिर भागना क्यों पड़ा? अगर पहले जैसी सरकार होती तो उन्हें भागना नहीं पड़ता क्योंकि उन्हें पता है कि देश में रहेंगे तो कानूनों का पालन करना पड़ेगा, अब भागे हैं तो वापस लाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं, संपत्तियां जब्त की जा रही हैं, विदेशों में भी संपत्तियां जब्त हो रही हैं, नीतियों के जरिए भी ऐसे लोगों को वापस लाने का काम किया जा रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि मध्यमवर्ग के बारे में हमें चिंता करनी चाहिए, इसलिए नहीं कि वे हमें वोट देते हैं, बल्कि इसलिए कि वे देश के लिए जरूरी हैं। हमने मेडिकल कॉलेज में सीट बढ़ाई, उड़ान योजना लाई, यह सब मध्यमवर्ग के लिए है। स्टार्ट अप योजना, मुद्रा योजना, सौभाग्य योजना, इनकम टैक्स में रियायत से लेकर बिजली के बिल में रियायत तक हमने मध्‍यवर्ग के लिए काफी काम किया है।

कर्ज माफी को लेकर झूठ नहीं बोलना चाहिए
कर्ज माफी के बारे में पीएम मोदी ने कहा कि झूठ बोलना और गलत बात फैलाना, यह लॉलीपॉप है, जैसे कि उन्होंने कहा किसानों का सारा कर्ज माफ कर दिया। सच यह है कि ऐसा कुछ नहीं हुआ है, उनके अपने सर्कुलर देख लीजिए, उन्हें झूठ नहीं बोलना चाहिए। 2009 चुनाव जीतने के लिए भी कर्ज माफी की घोषणा की गई थी, लेकिन ऐसा क्या है कि कर्ज माफी के बाद भी उनकी समस्या दूर नहीं हो रही है, इसलिए जरूरी है किसानों को मजबूत बनाया जाए। किसानों का बहुत कम वर्ग ऐसा है जो बैंकों से कर्ज लेता है। जो किसान मर रहा है, आत्महत्या कर रहा है वह तो साहूकार से कर्ज लेता है। वह तो बैंकिंग प्रणाली में है ही नहीं, उन्हें कोई फायदा नहीं मिल रहा है। कोई राज्य सरकार अगर कर्ज माफी करती है तो हम उन्हें रोकते नहीं है। स्वामीनाथन की रिपोर्ट के अनुसार तत्कालीन सरकार एमएसपी लागू करती तो किसानों को कर्ज नहीं होता।

मॉब लींचिंग की घटनाएं शोभा नहीं देतीं
पीएम मोदी ने कहा कि देश में लींचिंग की घटनाएं शोभा नहीं देतीं हैं, सभ्य समाज को शोभा नहीं देती, यह गलत और निंदनीय है, लेकिन मैं यह पूछना चाहता हूं कि क्या ऐसी घटनाएं इस सरकार में शुरू हुई हैं।

About Author

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.