2022-06-28

Maharashtra Politics: महाराष्ट्र से दिल्ली तक पल-पल बदल रहे सियासी हालात, शाह-नड्डा मिले, फडणवीस भी एक्टिव, एकनाथ शिंदे को मनाने की कोशिशें , सीएम उद्धव ठाकरे ने करीबी नेताओं को सूरत भेजा

आज मैं आपको जय हिंदुस्तान न्यूज़ के माध्यम से कुछ अपडेट बता रहे हैं एकनाथ शिंदे सहित तीन मंत्री और 27 विधायकों के साथ में गुजरात में उद्धव सरकार पर संकट आ गया है सभी विधायकों के मोबाइल बंद आ रहे हैं और अमृता और जेपी नड्डा जी दिल्ली में मिल चुके हैं ऐसे में एकनाथ हमसे क्या भूल हुई है ऐसे में अलग-अलग कई बातें सामने आ रही है महाराष्ट्र की उद्धव सरकार खतरे में है उनके अध्यक्ष मंत्री एकनाथ शिंदे अपने शिवसेना के 15 और एनसीपी को 14 निर्दलीय विधायकों के साथ में गुजरात के सूरत में बस गए हैं इस टोली में शिंदे के अलावा तीन मंत्री है और सुबह करीब 8:00 बजे सूरत से ही शिंदे के मुंबई छोड़ने की खबर आई थी
पता चला है कि शिंदे ने अपना मोबाइल बंद कर लिया है उन्होंने मुख्यमंत्री से संपर्क नहीं किया है मुख्यमंत्री से इनकी बात भी नहीं हुई अभी नहीं हुआ है सूत्रों के अनुसार राठौड़ और दादा को अपना दुत बनाकर भेजेंगे यह विधायक एनसीपी कांग्रेस के गठबंधन को तोड़ भाजपा से मिलकर सरकार बनाने की मांग रख सकते हैं इन खबरों में कुछ घंटे बाद दिल्ली में हलचल तेज हो गई है गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के यहां पर राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के घर पहुंचे हैं अभी और यहां पर क्या बात हुई है उसका कुछ पता नहीं चला लेकिन महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र  मुंबई से दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं सिंधी विधायकों के साथ में
कुछ देर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं 31 महीने पहले महाराष्ट्र में जब उद्धव ठाकरे ने सरकार बनाई थी शिवसेना एनसीपी गठबंधन के पास 56 विधायक के भाजपा के पास एक  विधायक विधानसभा 288 विधायकों की है यानी सरकार के लिए 144 विधायक चाहिए मौजूदा हालात में शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के पास में विधायक बसते हैं 15 विधायक सूरत के एक होटल में रुके हुए हैं पुलिस से कड़ी सुरक्षा कर रही है यहां पर होटल के बाहर ऐसे में यहां पर कई अलग-अलग खबर आ रही है शिंदे के साथ में शिवसेना के 25 विधायक भी होटल में मौजूद है

एक बार में तो गिर जाएगी महाराष्ट्र की सरकार महाराष्ट्र में सोमवार को विधान परिषद चुनाव में महा विकास आघाडी का बहुमत 151 तक गिर गया था राज्यसभा चुनाव के दौरान महाविकास आघाडी के पास 162 विधायक थे जबकि पहले संख्या 170 थी कि राज्यसभा चुनाव के बाद यहां पर की संख्या महाविकास आघाडी 11 विधायक कम हो गया है परिषद चुनाव से पहले बाद में तुलना करें तो 19 विधायक महाविकास आघाडी से दूर हो गए हैं और अभी यहां पर बात करें बीजेपी की तो 134 विधायकों का समर्थन प्राप्त है बीजेपी और महा विकास आघाडी की संख्या में बहुत कम रह गया है देखो इन विधायकों की सदस्यता पर महाराष्ट्र विधानसभा में शिवसेना के पास में जहां पर 56 विधायक हैं और कानून के हिसाब से शिंदे को टी आई जा रहा है

 

 

 

 

 

जिसमें शिवसेना के 15 विधायक हैं गुमराह किया जा रहा है संपर्क नहीं हो पा रहा है शिवसेना के साथ में है महाराष्ट्र में सियासी उठापटक के बीच में नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस दिल्ली पहुंच गए हैं राज्य में 10 विधान परिषद की सीटों के लिए सोमवार को रिजल्ट जारी हुआ था जिसमें 5 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली और दो पर शिवसेना दोपहर एनसीपी और 1 सीट कांग्रेस के खाते में गई ऐसे में क्रॉस वोटिंग हुई थी ऐसे में सियासी सुगबुगाहट शुरू हो गई है कांग्रेस के दलित चेहरा चंद्रकांत चुनाव हारे हैं

Spread the love

You may have missed

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.