2022-06-28

लोकसभा चुनाव 2019 : छठे चरण का रण: अखिलेश-दिग्विजय-मेनका-शीला दीक्षित सहित ये दिग्गज मैदान में

नई दिल्ली। देश में आज छठे चरण का चुनाव हो रहा है 7 राज्यों की 59 लोकसभा सीटों के लिए वोटिंग शुरू हो चुकी है। इनमें यूपी की 14, हरियाणा की सभी 10, बिहार, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल की आठ-आठ, झारखंड की चार और दिल्ली की सभी सात सीटें शामिल हैं।

इन चुनावों में कई मुख्य चेहरें भी हैं जिनमें राधा मोहन सिंह, मेनका गांधी, एसपी चीफ अखिलेश यादव, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य जैसे दिग्गजों का नाम है रविवार को कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर लगी होगी।

मध्य प्रदेश की भोपाल सीट पर मुकाबला कांटे का है. यहां से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह मैदान में हैं और दिग्विजय को टक्कर देने के लिए बीजेपी ने साध्वी प्रज्ञा को टिकट दिया है। साध्वी प्रज्ञा मालेगांव ब्लास्ट केस में अभियुक्त हैं दिग्विजय सिंह 1993 में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने उसके बाद वे 2003 तक मुख्यमंत्री रहे।

इस सीट पर बीजेपी की तरफ से केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी चुनावी मैदान में हैं वहीं कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय सिंह को सुल्तानपुर से टिकट दिया है इस सीट पर पिछले चुनाव में उनके बेटे वरुण गांधी ने जीत हासिल की थी. इस बार मां-बेटे की सीट में अदला बदली की गई है।

मेनका वरुण की जगह सुल्तानपुर से चुनाव लड़ रही हैं तो वरुण अपनी मां मेनका की सीट पीलीभीत से किस्मत आजमा रहे हैं।

आजमगढ़ में इस बार यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह यादव की जगह चुनाव लड़ रहे हैं जिनका मुकाबला बीजेपी उम्मीदवार और भोजपुरी अभिनेता दिनेश लाल निरहुआ से है।

बीजेपी ने 2014 के चुनाव में इस चरण में उत्तर प्रदेश की 14 में से 13 सीटों पर जीत हासिल की थी, एकमात्र अपवाद आजमगढ़ था, जहां से सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव को जीत मिली थी।

दिल्ली की सात सीटों में सबसे ज्यादा चर्चित सीट पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट है. इस सीट पर गांधी नगर विधानसभा के पूर्व विधायक और कांग्रेस नेता अरविंदर सिंह लवली मैदान में हैं।

वहीं बीजेपी ने पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर को टिकट दिया है. आम आदमी पार्टी ने आतिशी को अपना उम्मीदवार बनाया है 2014 के लोकसभा चुनाव में ये सीट बीजेपी के खाते में थी। महेश गिरी ने इस सीट से जीत दर्ज की थी अरविंदर सिंह लवली पूर्वी दिल्ली की गांधी नगर विधानसभा सीट से 4 बार जीत दर्ज कर चुके हैं 1998 में जीत दर्ज करने वाले वह सबसे युवा विधायक थे।

इस सीट पर दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और आम आदमी पार्टी के दिलीप पांडे को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी टक्कर दे रहे हैं। 2014 में इस सीट पर मनोज तिवारी ने जीत दर्ज की थी कांग्रेस पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित द्वारा दिल्ली में किए कामों को मुद्दा बना रही है।

2019 के चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की कमान तजुर्बेकार शीला दीक्षित को सौंपी है। 1998 में जिस समय शीला दीक्षित को सोनिया गांधी ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया था, उस समय भी कांग्रेस की हालत आज जैसी पतली ही थी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.