2022-06-28

पुलवामा से भी बड़ा हमला प्लान कर रहा है जैश-ए-मुहम्‍मद, पाकिस्तान के लिए होगा…

नई दिल्‍ली। पाकिस्‍तान आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्‍मद भारत में एक बार फिर पुलवामा से बड़ा हमला करने का प्‍लान कर रहा है। इसको लेकर खुफिया एजेंसियों ने जानकारी दी है कि आतंकी एक बार फिर आत्‍मघाती हमले की योजना बना रहे हैं।

पाकिस्‍तान में बैठे आतंकियों के आका और कश्‍मीर में बैठे आतंकियों के बीच हुई बातचीत को इंटरसेप्‍ट करने के बाद यह जानकारी खुफिया एजेंसी की तरफ से आई है। ये हमला अगले दो से तीन दिनों के भीतर ही हो सकता है। जिसके लिए गाड़ी तैयार कर ली गई है, खुफिया एजेंसियों को जो इनपुट मिले हैं उसके अनुसार जैश उत्तरी कश्मीर में चौकीबल और तंगधार में IED ब्लास्ट के जरिए हमला करने की साजिश रच रहा है।

खुफिया एजेंसियों ने कहा है कि जैश के आतंकियों के द्वारा एक हरे रंग की स्‍कार्पियो गाड़ी को तैयार कर लिया गया है। इस आत्‍मघाती हमले के लिए पहले से कहीं अधिक आरडीएक्‍स का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। खुफिया एजेंसी ने कहा है कि आतंकी इसके लिए पांच सौ किग्रा आरडीएक्‍स का इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

आतंकियों के बीच 16-17 फरवरी के बीच यह बातचीत हुई है। अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, यह हमला भी जवानों पर ही किया जाना था। इनपुट के मुताबिक, यह हमला जम्‍मू या राज्‍य के बाहर किया जाता। आपको यहां बता दें कि सीमा पार से करीब 21 आतंकी भारत के अंदर घुसने के इंतजार में है।

इसमें तीन आत्‍मघाती हमलावर भी शामिल हैं। खुफिया एजेंसियों से मिला इनपुट बेहद खास इस लिहाज से भी है, क्‍योंकि मंगलवार को ही पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने टीवी पर आकर न सिर्फ भारत को धमकी दी थी, बल्कि यहां तक कहा था कि यदि भारत के पास पुलवामा हमले को लेकर जो भी जानकारी हो वो उन्‍हें मुहैया करवाएं तो पाकिस्‍तान जरूर कार्यवाही करेगा।

पुलवामा आतंकी हमले के बाद एक बार फिर दोनों देशों के रिश्‍ते काफी तनावपूर्ण हो गए हैं। भारत ने आतंकियों को सबक सिखाने के लिए जहां सेना को पूरी छूट दे दी है, तो वहीं इमरान ने साफ कर दिया है कि यदि भारत ने पाकिस्‍तान में किसी तरह की कोई भी कार्रवाई की तो वह निश्चित तौर पर इसका जवाब देंगे।

वहीं उनके मंत्री ने भारत को परमाणु हमले तक की धमकी दे डाली है। ऐसे में दूसरे बड़े हमले का खुफिया इनपुट दोनों ही देशों को चिंता में डालने वाला है। ऐसा इसलिए, क्‍योंकि दोनों ही देशों के लिए यह समय बड़ा चुनौतीपूर्ण है। भारत जहां अंतरराष्‍ट्रीय मंच पर पाकिस्‍तान को अलग-थलग करने की योजना पर काम कर रहा है, वहीं पाकिस्‍तान अपनी छवि को बचाने की कोशिश कर रहा है। पाकिसतान के लिए यह समय इसलिए भी काफी संवेदनशील है।

गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद भारत की सख्‍त कार्रवाई की चेतावनी के बाद पाकिस्‍तान के अफगानिस्‍तान स्थित राजदूत ने यहां तक कहा था कि भारत की वजह से यहां की शांतिवार्ता बेपटरी हो सकती है। इस पर अफगानिस्‍तान ने राजदूत जाहिद नसरुल्‍लाह को तलब कर उनके बयान पर सख्‍त एतराज जताया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.