2022-05-16

आज से चैत्र नवरात्रि शुरू, मां शैलपुत्री का आज नवरात्रि पर इन मंत्रों से जाप करें , 9 दिनों तक माता पार्वती के अलग-अलग रूप की पूजा की जायेगी

आज से चैत्र नवरात्रि शुरू हो गए हैं नौ देवियों के लिए जरूर करें मंत्रों का जाप सभी मनोकामनाएं आपकी पूरी होगी 9 दिनों तक माता पार्वती के अलग-अलग रूप की पूजा की जाएगी और ऐसे में आज पहला दिन है इस मंत्र का जाप करें मां शैलपुत्री का आज नवरात्रि पर मंत्रों से जाप करें जिससे आपके सभी मनोकामनाएं पूरी होगी इस साले चेत्र नवरात्रि आज 2 अप्रैल से शुरू होने वाले हैं और इनकी समाप्ति 10 अप्रैल को होगी ऐसे 10 अप्रैल को रामनवमी का त्यौहार मनाया जाएगा पूरे देश भर में नवरात्र में मां दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा अर्चना के साथ में व्रत भी किए जाते हैं और जो छोटी जो लड़कियां होती है छोटी कन्या होती है उनको भोजन भी कराया जाता है 9 दिनों तक माता का ध्यान माता के मंत्रों का जाप पर पूजा पाठ की जाती है ऐसे में कई लोग व्रत भी रखते हैं या एक टाइम खाना खाते हैं और दिन रात सुबह शाम माता भगवती की पूजा पाठ करते हैं मंदिरों में जाकर या अपने घर पर और ब्राह्मणों को भी भोजन करवाते हैं कुछ लोग ब्राह्मणों के द्वारा नवरात्रि की घट स्थापना करवाते हैं 9 दिनों तक जिसके बाद में ब्राह्मणों को दान दक्षिणा भी देते हैं और मंदिरों में माता के जयकारे लगाते हैं ऐसे में माता भगवती के नौ रूपों की अलग-अलग दिन पूजा होती है

 

 

 

 

9 दिनों तक ऐसे मैं यहां पर शैलपुत्री ब्रह्मचारिणी चंद्रघंटा कूष्मांडा स्कंदमाता का कालरात्रि महागौरी सिद्धिदात्री, कात्यायनी की पूजा की जाती है नवरात्रों में पहले दिन घट स्थापना की जाती है और अष्टमी और नवमी के दिन कन्या पूजन भी किया जाता है छोटी कन्याओं को भोजन कराया जाता है और ब्राह्मणों को भोजन कराया जाता है दान दक्षिणा दी जाती है ऐसे में 9 दिनों तक माता के मंत्रों का जाप करके माता को प्रसन्न किया जाता है जिसे सभी मनोवांछित फल प्राप्त होते हैं और सभी मनोकामनाएं पूरी होती है साल भर में 4 नवरात्रि आते हैं दो गुप्त नवरात्रि 2 शारदीय नवरात्रि चैत्र नवरात्रि का विशेष महत्व होता है नवरात्रि में घर के पूजा घर में घी का दीपक जलाया जाता है

 

 

 

माता की स्थापना चंदन की चौकी पर की जाती है यह शुभ माना जाता है ऐसे में पूरी विधि विधान के साथ में यहां पर है ब्राह्मण के द्वारा या खुद जो लोग नवरात्रों में भगवान है या माता की पूजा करते हैं वह 9 दिनों तक सुबह जल्दी ही स्नान करने के बाद में माता भगवती की पूजा अर्चना करते हैं और मंदिरों में जाते हैं अपने घर पर पूजा पाठ करते हैं मंत्रों का जाप करते हैं दीपक जलाते हैं चौकी लगाते हैं ऐसे में शाम को भोग लगाया जाता है सुबह भोग लगाया जाता है और 24 घंटे दीपक जलाया जाता है ऐसे में 9 दिनों तक माता का ध्यान किया जाता है लाल रंग की वास्तव में शक्ति का प्रतीक माना गया है ऐसा करने से घर में वास्तु दोष दूर होता है 9 दिनों तक मंदिरों में भक्तों की भीड़ रहती है और अलग-अलग दिन माता के मंत्र की जाप की जाती है इसे भगवती मां प्रसन्न होती है और सभी मनोकामना को पूरा करती है

 

Spread the love
Copyright © All rights reserved jaihindustannews | Newsphere by AF themes.